ट्रेजरी बिल क्या है? | Treasury Bill Kya Hai Hindi, Eligibility, Intrest

Treasury Bill Kya Hai : FD से ज्यादा रिटर्न्स और FD से ज्यादा Safe ऐसा भी Investment Options है हमारे पास। कौनसा है यह ऑप्शन जानेंगे इस आर्टिकल में तो बने रहिए हमारे साथ अंत तक। 

Treasury bill kya hei

नमस्कार मित्रो मेरा नाम है मीत और आप सबका स्वागत है आज के इस शानदार आर्टिकल में। आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे एक ऐसी Government Securities के बारे में जोकि ना सिर्फ FD से ज्यादा Returns देते है बल्कि FD से ज्यादा Safe भी है। में बात कर रहा हु T-Bills यानी Treasury Bills की।

ट्रेजरी बिल क्या है? (Treasury Bill Kya Hai Hindi)

Treasury Bill एक इन्वेस्टमेंट ऑप्शन होता है जिन्हे सरकार RBI की Helps से लांच करती है। जब सरकार को एक साल से कम अवधि के लिए पैसे की जरूरत होती है तब सरकार T-Bills यानी Treasury Bills लांच करती है। अब इसके लिए सरकार हमे कुछ ब्याज भी देती है। पर यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि इसमें जो मिलने वाला ब्याज है वह आपको FD या फिर Bonds की तरह सीधे नही मिलते। 

आम तौर पर T Bills Actual Price से Discount पर जारी किए जाते है। लेकिन सरकार उनको जब वापस लेती है तब उनका पूरा पैसा देती है। इसका मतलब जो कीमत में डिफरेंस होता है Actual में वही हमारा Returns बन जाता है।

  • Ex: समझ लो हमे कोई ₹100 का T Bill ₹96 मे मिल जाता है अब जब हम इसको बेचेंगे सरकार हमे इसकी पूरी कीमत यानी ₹100 देंगी। तो इस पर हमे ₹4 का Returns मिल गया। इसी तरह इसमें सब Investor earn करते है।

ट्रेज़री बिल कितने प्रकार के होते है? (ट्रेजरी बिल कितने दिनों के लिए जारी किया जाता है?)

बात करे ट्रेज़री बिल के ड्यूरेशन की तो आम तौर पर सरकार एक साल से कम वक्त के लिए पैसे उधार लेती है इसके लिए तीन तरह से दिन के अनुसार सरकार T Bill जारी करती है।

  • (१). 91 Days : इस बिल की अवधि 91 दिन की होती है। अगर आपको 91 Days के Treasury Bill को Buy करना है तो आप इसे बुधवार के दिन Bid लगा सकते है। और भुगतान अगले शुक्रवार को किया जाता है। जब आप परिपक्वता के बाद इसे सरकार को वापस करेंगे तो आपको आपकी पूरी राशि यानी T Bill का मूल प्राइस मिलेगा जिसने आपको कुछ डिस्काउंट प्राइस पर खरीदा था। 
  • (२). 182 Days : इस बिल की अवधि 182 Days की होती है। इसकी परिपक्वता की बात करे तो Issue होने के 182 Days मे परिपक्व होता है। इसकी bid भी बुधवार को की जाती है।
  • (३). 364 Days : इस बिल की अवधि 364 Days की होती है। इसकी परिपक्वता की बात करे तो Issue होने के 364 Days मे परिपक्व होता है। इसकी bid भी बुधवार को की जाती है।


ट्रेजरी बिल कौन खरीद सकता है? (Treasury Bill Eligibility Criteria)

2016 से पहले कुछ लिमिटेड इन्वेस्टर ही इश्यू करा सकते थे लेकिन 2016 के बाद से ये बिल्स सबके लिए ओपन करवा दिए गए है। 

आरबीआई इससे Regarding Guidelines अपनी ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी करती रहती है। जहा से हम सारी डिटेल्स लेके बिल को इश्यू करवा सकते है।

और पढ़े : बिना कोई इन्वेस्टमेंट डेली कमाओ Rs.1000

ट्रेजरी बिल कैसे खरीदे? (Treasury Bill Kaise Kharide)

ट्रेजरी बिल आप सीधे NSE की ऑफिशियल App यानी NSE goBID के जरिए हम अप्लाई कर सकते है।

और दूसरे रास्ते की बात करे तो बहुत सारे स्टॉक ब्रोकर्स आज कल आपको T Bill Buy करने की सुविधा देते है। Buy करने के बाद ब्रोकर्स आपको अपने Demat Account में T Bill ट्रांसफर कर देंगे।

ट्रेजरी बिलों की धन राशि कितनी होती है?

सरकार द्वारा जारी किए गए Treasury Bills की न्यूनतम राशि 25,000 रुपये और इसी तरह 25,000 रुपये के गुणकों में है। 

ज्यादा की कोई लिमिट अभी तक fix नही की गई है 25,000 के गुणाक में आप कितने भी बिल ले सकते है।

ट्रेजरी बिल के लाभ क्या है? (Treasury Bill ke Labh)

बात करे टी बिल के फायदे यानी की लाभ की तो इसमें काफी सारे फायदे है। इसमें इन्वेस्ट करना एक बुद्धिमानी होगी अगर आप इन्वेस्ट करते है तो क्योंकि इसमें निम्न लिखित फायदे और लाभ है।

Safety: T Bill निवेश के कई फायदे होते है क्योंकि यह अपने निवेशकों को सुरक्षा प्रदान करता है।

Responsibility: टी-बिल एक लोकप्रिय शॉर्ट टर्म निवेश सरकारी सुरक्षा है। केंद्र सरकार उनका समर्थन करती है। वे भारत सरकार के लिए एक Responsibility के रूप में कार्य करते हैं क्योंकि उन्हें निर्धारित समय के अंदर भुगतान करने की जरूरत होती है।
Investors के पास अपने Investment किए गए फंड पर पूरी सुरक्षा होती है क्योंकि उन्हें भारत सरकार का समर्थन प्राप्त होता है, यानी देश में सर्वोच्च प्राधिकरण।

Short term Investment: T Bill अर्थव्यवस्था के लिए  Short term जरूरियातो के लिए धन जुटाने में मदद करता है। जो व्यक्ति शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट की तलाश में हैं। वह अपना फंड यहां जमा कर सकते हैं।

Flexibility: साथ ही T Bill को सेकेंडरी मार्केट में बेचा जा सकता है। यह निवेशकों को किसी भी आपात स्थिति के दौरान अपनी होल्डिंग को नकदी में बदलने की अनुमति देता है।

टी-बिलों की नीलामी आम तौर पर आरबीआई द्वारा हर हफ्ते की जाती है। इससे निवेशकों का सरकारी बांड बाजार में एक्सपोजर बढ़ जाता है, जिससे पूंजी बाजार में उच्च नकदी प्रवाह पैदा होता है।

ट्रेजरी बिल के नुकसान क्या? (Treasury Bill ke Nukshan)

वैसे तो टी बिल का कोई नुकसान नहीं है। Safe भी ही लेकिन इसमें FD की तरह कोई फिक्स्ड ब्याज नही मिलता। आपको Buy करते समय जो Discount मिला था वही आपका प्रॉफिट होगा।

Maturity तक wait करेंगे तभी आपको फायदा हो पाएगा अन्यथा आपको सेकेंड्री मार्केट में इस सेल करना होगा।

और पढ़े : PPF Account क्या है?

निस्कर्ष :

दोस्तो आज इस आर्टिकल में हमने देखा कि ट्रेजरी बिल क्या है? (Treasury Bill Kya Hai Hindi), ट्रेज़री बिल कितने प्रकार के होते है? (ट्रेजरी बिल कितने दिनों के लिए जारी किया जाता है?), ट्रेजरी बिल के लाभ क्या है? (Treasury Bill ke Labh)। दोस्तो टी बिल में निवेश करना काफी safe और आसान माना जाता है अगर आपको टी बिल में निवेश करना है तो आप ऊपर दिए गए सारे सजेशन को अवश्य फॉलो करे, आशा करता हु आपको पसंद आया होगा। अगर पसंद आए तो अपने दोस्तो को शेयर जरूर करे, धन्यवाद।

Treasury Bill के बारे में अक्षर पूछे जाने वाले सवाल

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad