Coming Home lyrics -By {Garry Sandhu} and Naseebo Lal

Spread the love

Coming Home lyrics – sung by Garry Sandhu and Naseebo Lal. This Punjabi Song is written and composed by Garry Sandhu. Music label Fresh Media Records.

Coming Home lyrics
Song Title: Coming Home
Singer: Garry Sandhu, Naseebo Lal
Lyrics/Composer: Garry Sandhu
Music: Roach Killa
Mixed And Mastered: J Statik
Supporting vocals: sultana

Coming Home lyrics

कई दिन हो गए तैनु वेखेया ही नहीं
वेखेया ही नहीं जी भर सोहनेया
तेरे बाजों होया मेरा माँड़ना जहाँ
छेती घर आ मैं चल्ली मर सोहनेया

आज हसवांगा मैं
आज हसवांगा मैं
मुड़ के ना जवांगा मैं
मुड़ के ना जवांगा मैं

आज हसवांगा मैं
मुड़ के ना जवांगा मैं
तेरी बाहां विच
सारी ज़िंदगी बितावँगा मैं
कर ले सबर थोड़ा होड़ सोहनिये

हो अँखियाँ ने लाँघ दियाँ रातां
अँखियाँ ने लाँघ दियाँ रातां
लाँघ गैयाँ कई बरसाताँ
लाँघ गैयाँ कई बरसाताँ

तेरे बाजों दिल नहियों लगदा
तेरे बाजों दिल नहियों लगदा
आजा कर प्यार दियाँ बातां
ओह आजा कर प्यार दियाँ बातां

ओह मैं वी आं तैयार
मेरी गड्डी वी तैयार
लोंग ड्राइव लइके तैनु जाना आज यार
गिले सिकवे तू सब भूल जाएँगी
रज्ज रज्ज कर नावे तैनु आज प्यार

आज हसवांगा मैं
आज हसवांगा मैं
मुड़ के ना जवांगा मैं
मुड़ के ना जवांगा मैं

आज हसवांगा मैं
मुड़ के ना जवांगा मैं
तेरी बाहां विच
सारी ज़िंदगी बितावँगा मैं
कर ले सबर थोड़ा होड़ सोहनिये

हो लखां अरमान मेरे दिल दे
फ़ोटो तेरी वेख वेख खिल दे
टक्कनी नू आज ऐसा मिल जा
टक्कनी नू आज ऐसा मिल जा
सेहरा में पानी जिवें मिल दे

इश्क़ तेरे दे विच मैं वीआं फ़ना
तेरे नाड़ प्यार मेरा ऐहि है गुनाह
घुट्ट तैनु सीने नाल लोंड़ा गोरिये
क़सम ख़ुदा दी हूँड़ करी ना मना

आज हसवांगा मैं
आज हसवांगा मैं
मुड़ के ना जवांगा मैं
मुड़ के ना जवांगा मैं

आज हसवांगा मैं
मुड़ के ना जवांगा मैं
तेरी बाहां विच
सारी ज़िंदगी बितावँगा मैं
कर ले सबर थोड़ा होड़ सोहनिये
होड़ सोहनिये..

Coming Home lyrics, Coming Home lyrics, Coming Home lyrics, Coming Home lyrics

Read More Song Lyrics

Feelings song Lyrics – By Sumit Goswami
Na Manzoori Lyrics -By Ash King {Naveen Tyagi}
Kithe Lyrics in Hindi – Vishal Mishra And Ishita Dutta Sheth
Kyon Lyrics in Hindi -B Praak | Payal Dev

1 thought on “Coming Home lyrics -By {Garry Sandhu} and Naseebo Lal”

Comments are closed.